Home / Feature Story

Feature Story                                

प्रयास और बदलाव

In 2015, PRIA facilitated participatory planning in Sunderkera Gram Panchayat. The community envisioned their panchayat as "clean, beautiful and attractive". Today, Sunderkera, under the leadership of their sarpanch Ms Sushila Sahu and with the participation and commitment of all community members has indeed achieved this. Avon Patel, from PRIA's Raipur Office, writes about how the community made this commitment and what they did to achieve it.


We gratefully acknowledge Ms Sushila Sahu, Sarpanch, Sunderkera Gram Panchayat, for permission to use these photographs taken by her of Sunderkera Gram Panchayat.

 

स्वच्छ और स्वस्थ्य भारत निर्माण की कल्पना को साकार करने के लिये भारत सरकार की बहुआयामी और लोक कल्याणकारी योजना स्वच्छ भारत मिशन के उद्दश्यों को जनमानस तक पहुचाने और समुदाय को जोड़ने का प्रयास प्रिया के द्वारा लगातार किया जा रहा है। इस कड़ी में नवम्बर 2015 को ग्राम पंचायत सुन्दरकेरा में 3 दिवसीय ग्राम पेयजल एवं स्वच्छता योजना निर्माण की एक पहल की गई। समुदाय की माँग एवं प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुये स्वच्छ भारत मिशन के विभिन्न घटकों जैसे शौचालय निर्माण, उसके उपयोग, पेयजल एवं निस्तारी हेतु पानी का संरक्षण एवं संवर्धन, गंदे पानी का उचित निपटान जैसे विषयों पर ग्रामीण समुदाय को सहभागिता आधारित कार्य योजना निर्माण की जानकारी और प्रेरणा दी गई। उस दौरान ग्रामीण समुदाय द्वारा ग्राम पेयजल एवं स्वच्छता योजना निर्माण में उत्साहपूर्वक भागादारी निभायी गयी और ‘‘हमर गांव हमर तीर्थ‘‘ के सपने को साकार करने के लिये सहभागी कार्ययोजना का निर्माण किया गया। योजना बनाने के बाद भी ग्राम पंचायत के सदस्यों और गाँव के लोगों को प्रिया द्वारा 2016 तक नियमित सहयोग दिया गया। 


जुलाई 2017 में कनाड़ा से आयी लौरीन के साथ एक बार फिर इस गाँव में जाने का अवसर मिला। इस दौरान ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों और लोगों से बात करने से गाँव में आये बदलावों को समझने का मौका मिला। नई परिस्थितियों में गाँव के लोगों के सामने कुछ नयी चुनौतियाँ भी आ रहीं हैं।






लोगों से हुई चर्चा से निम्नलिखित बातें निकल कर आयीं

● ग्राम पंचायत सुन्दरकेरा को सम्पुर्ण स्वच्छ करने के लिये गाँव के सभी 428 परिवारों में शौचालय निर्माण कर लिया गया है। इस प्रयोग और प्रयास के परिणाम स्वरूप ग्राम पंचायत सुन्दरकेरा आज ओडीएफ है।

● ग्राम पंचायत सुन्दरकेरा में संस्था के द्वारा किये गये प्रयास को साकार करते हुये ग्राम पंचायत और समुदाय की सहभागिता से ग्राम विकास की विभिन्न कार्य योजनाओं के सहभागी निर्माण का काम निरन्तर किया जा रहा है।

● जिस समय सुन्दरकेरा में ग्राम स्वच्छता योजना निर्माण की पहल हो रही थी उस दौरान पानी की समस्या को एक प्रमुख समस्या के रूप में चिन्हांकित कर उसे कार्य योजना में प्रमुख मांग के रूप में अंकित किया गया। ग्राम पंचायत और समुदाय की निरंतर पहल पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पेयजल एवं निस्तारी की समस्या को दूर करने के लिये विभाग के द्वारा 78 लाख राशि की पानी टंकी निर्माण एवं पाइप लाईन के लिये मंजूरी मिल गई है। इस वर्ष 2017 के अंतिम महिनों में कार्य प्रारंभ होना बताया गया है

● ग्राम पंचायत की महिला सरपंच के नेतृत्व में सुन्दरकेरा की महिलायें पहले से कहीं ज्यादा संगठित हैं और अपनी बात पंचायत एवं समुदाय के बीच रख रही हैं।

● गाँव की शत-प्रतिशत महिलायें शौचालय का उपयोग कर रही है।

● सुन्दरकेरा की महिलायें स्वास्थ्य और सुरक्षा को लेकर बहुत जागरूक है।

● ग्राम सुन्दरकेरा में शिक्षा के साथ स्वच्छता और स्वास्थ्य के स्तर को और बेहतर बनाने के लिये स्कूलों में स्वच्छता की जानकारी के साथ ही प्रकृति को समझने और जोड़ने का प्रयास प्रति सप्ताह किया जा रहा है। हाई स्कूल में माहवारी प्रबंधन की व्यवस्था की गई है, इस व्यवस्था से छात्रायें खुश है।

● गाँव में गंदे पानी के निकासी की कोई ठोस व्यवस्था नहीं हो पायी है। बरसात के दिनों में पशुधन का कचरा व मल का उचित निपटान नही हो पा रहा है, गलियों में गोबर पड़ा है। कचरा प्रबंधन को लेकर अभी तक कोई ठोस पहल नही हो पायी है यद्यपि ग्राम पंचायत इसके लिये प्रयासरत हैं।

सुन्दरकेरा ग्राम पंचायत के द्वारा किया गया काम एक सराहनीय प्रयास है। समुदाय विकस के काम में लगे लोगों को यहाँ के कामों से बहुत कूछ सीखने को मिलता है।

 

 

 

Feature Story